PUBLIC REVIEW: काला को दर्शक मान रहे हैं रजनीकांत की बेस्ट फिल्म

PUBLIC REVIEW: काला को दर्शक मान रहे हैं रजनीकांत की बेस्ट फिल्म

निर्देशकः पा. रंजीत
निर्माताः धनुष
सितारेः रजनीकांत, नाना पाटेकर, ईश्वरी राव, हुमा कुरैशी

अवधि: 185 मिनट

Navodayatimes

प्लाट: फिल्म की कहानी यूनियन मिनिस्टर हरिदेव अभ्यंकर (नाना पाटेकर) और करिकालन उर्फ़ काला (रजनीकांत) के इर्द-गिर्द घुमती है।

हरी जो मुंबई के धारावी इलाके को तोड़ वहां गवर्नमेंट पालिसी की आड़ में अपने प्राइवेट कंपनी के द्वारा ऊँची-ऊँची इमारते बनाना चाहता है, उसे काला का सामना करना पड़ता है जो उसके मंसूबों को पूरा होने नहीं देता। इसी जंग में काला अपनी पत्नी सेल्वी(इश्वरी राव) और बड़े बेटे सेल्वम(दिलीपम) को हरी के हाथों खो देता है। वहीं दूसरी ओर काला की कभी प्रेमिका रही ज़रीना(हुमा कुरैशी) भी हरी के मकसदों से अनजान धारावी के लोगों को जगह खली करने के लिए कहती है ताकि उनका भला हो सके और उसे भी काला गलत दिखता है।

अब काला कैसे हरी से लड़ता है जिसके साथ सरकार, पुलिस और ताकत है और काला के पास है तो धारावी के लोगों का साथ।

रिव्यु: फिल्म को दर्शकों का भरपूर प्यार मिल रहा है। लोगों के अनुसार ये रजनीकांत की अभी तक की बेस्ट फिल्म है। कईयों के अनुसार रजनीकांत की ये फिल्म उनके राजनीति में जाने से पहले दर्शकों के दिलों में जाने का सबसे बेहतर तरीका है।

वहीं कईयों को रजनीकांत और नाना पाटेकर की एक्टिंग और दोनों का साथ बेहद भाया भी है लेकिन हुमा कुरैशी का फिल्म में कुछ काम दिखा नहीं।